हरियाणा रोडवेज ने हड़ताल की खत्म | आज दौड़ेंगी बसें (09-09 -2022)

2000 से अधिक बसों के पहिये थमे, आज दौड़ेंगी बसें (09-09 -2022), कर्मचारियों की हड़ताल खत्म

परिवार को 10 लाख रुपये की नगद आर्थिक सहायता दी जाएगी और 50 लाख की आर्थिक सहायता के लिए मुख्यमंत्री से सिफारिश की जाएगी और घायल को भी एक लाख की आर्थिक सहायता दी जाएगी। इस पर कर्मचारियों ने अपनी सहमति जता दी। अब शुक्रवार से सभी जिलों में रोडवेज की बसें फर्राटा भरेंगी।

Haryana Roadways strike ends

सोनीपत के कुंडली में हरियाणा रोडवेज सोनीपत डिपो के कर्मचारी की हत्या के विरोध में गुरुवार को पूरे प्रदेश में बसों के पहिये जाम रहे। 2000 से अधिक बसें नहीं चली, इससे परिवहन विभाग को लगभग तीन करोड़ का नुकसान हुआ। परिवहन मंत्री मूल चंद शर्मा के साथ हुई हरियाणा रोडवेज कर्मचारी साझा मोर्चा की वार्ता विफल रही। साझा मोर्चा मृतक कर्मचारी के परिवार के एक आश्रित को नौकरी, पत्नी को 58 की आयु तक पूरा वेतन और 50 लाख का मुआवजा देने की मांग कर रहे थे।

देर रात बनी सहमति, आज दौड़ेंगी बसें

रात 11:00 बजे दूसरे दौर की वार्ता के दौरान परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा की अध्यक्षता में बैठक हुई। बैठक में महानिदेशक वीरेंद्र दहिया भी मौजूद रहे। सहमति बनी कि हत्यारों को पकड़ने के लिए एसआईटी गठित कर दी गई है। जल्द से जल्द पकड़ लिया जाएगा। मृतक के भाई के लड़के को नौकरी दी जाएगी।

परिवार को 10 लाख रुपये की नगद आर्थिक सहायता दी जाएगी और 50 लाख की आर्थिक सहायता के लिए मुख्यमंत्री से सिफारिश की जाएगी और घायल को भी एक लाख की आर्थिक सहायता दी जाएगी। इस पर कर्मचारियों ने अपनी सहमति जता दी। अब शुक्रवार से सभी जिलों में रोडवेज की बसें फर्राटा भरेंगी।
देर रात साझा मोर्चा की राज्य इकाई की परिवहन मंत्री के साथ हुई बैठक में सभी मांगों को मान लिया गया है। इस कारण साझा मोर्चा की शुक्रवार को चक्का जाम करने के फैसले को वापस ले लिया गया है। हिम्मत राणा, प्रधान, एसकेएस यूनियन, रोहतक।

Haryana Roadways strike end

65 घंटे बाद पुलिस के हाथ खाली, एसआईटी गठित

सोनीपत में जीटी रोड पर रोडवेज चालक जगबीर सिंह की थार जीप से कुचलकर हत्या कर दी गई थी। इसके बाद थार सवार युवक-युवतियां दिल्ली की तरफ फरार हो गए थे। 65 घंटे बाद भी आरोपियों का कोई सुराग नहीं लगा है।

पुलिस अधीक्षक हिमांशु गर्ग ने बताया कि आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए डीएसपी विपिन कादियान नेृतत्व में विशेष जांच दल (एसआईटी) गठित की है। एसआईटी में सोनीपत के पांच इंस्पेक्टर शामिल किए गए हैं। आरोपियों का पता बताने वाले को 50 हजार इनाम दिया जाएगा। उधर, आरोपियों की गिरफ्तारी न होने पर जान देने वाले जगबीर के बेटे संदीप का परिजनों ने पोस्टमार्टम कराने से इन्कार कर दिया है।

ताज़ा खबरें जानने के लिए यहां Click करें

Leave a Comment